14 May
2019

झारखण्ड न्यायिक सेवा परीक्षा 2019 हेतु साक्ष्य अधिनियम 1872 के महत्वपुर्ण प्रश्नों का लीगल बज्ज मॉक टेस्ट 24

झारखण्ड न्यायिक सेवा परीक्षा 2019 हेतु साक्ष्य अधिनियम 1872 के महत्वपुर्ण प्रश्नों का लीगल बज्ज मॉक टेस्ट 24

KICK START YOUR PREPARATION WITH LEGAL BUZZ

Leaderboard: झारखण्ड न्यायिक सेवा परीक्षा 2019 हेतु साक्ष्य अधिनियम 1872 के महत्वपुर्ण प्रश्नों का लीगल बज्ज मॉक टेस्ट 24

maximum of 10 points
Pos.NameEntered onPointsResult
Table is loading
No data available

LEGAL BUZZ QUIZ 1▶️
📋 EVIDENCE ACT 1872
कश्मीरा सिंह बनाम मध्य प्रदेश राज्य का वाद सम्बन्धित है-
A.मृत्युकालिक कथन से
B.विशेषाधिकार प्राप्त संसूचना से
C.पुलिस अधिकारी से की गई संस्वीकृति से
D. सह-अभियुक्त की संस्वीकृति से ☑️
👉 धारा 30 सह – अभियुक्त की संस्वीकृति –
धारा 30 में निम्न स्पष्ट किया गया है ।
( i ) जब एक से ज्यादा व्यक्ति एक ही अपराध के लिए संयुक्तरूपेण विचारित हैं ,
( ii ) इनमें से किसी एक के द्वारा अपने व अन्य व्यक्तियों को प्रभावित करने वाली संस्वीकृति साबित की जाती है ,
( iii ) न्यायालय ऐसी संस्वीकृति को ऐसे अन्य व्यक्ति के विरुद्ध व करने वाले के विरुद्ध विचार में ले सकेगा .
धारा – 30 का प्रसिद्ध वाद कश्मीरा सिंह बनाम मध्य प्रदेश राज्य AIRJ 1952 S . C . है ।

LEGAL BUZZ QUIZ 2▶️
📋 EVIDENCE ACT 1872
इलेक्ट्रॉनिक संदेश के बारे में उपधारणा की जायेगी–
A. उचित पहुँचा है।
B. कम्प्यूटर में भरा है।
C. उस संदेश के अनुरूप है जो प्रेषण के लिए कम्प्यूटर में भरा गया है। ☑️
D. सभी सही हैं।

LEGAL BUZZ QUIZ 3▶️
📋 EVIDENCE ACT 1872
अ लिखित में ब से करार करता है विक्रय का,1000 रुपए में “मेरे सफेद घोड़े’ का अ के पास एक सफेद और एक भूरा घोड़ा है. उस मामले में-
A. यह दर्शाने के लिए कि अ का तात्पर्य अपने भूरे घोड़े को कभी बेचने का नहीं था, किसी साक्ष्य
को देने की आवश्यकता नहीं है । ☑️
B. ऐसी साक्ष्य दी जा सकती है कि ब का भूरा घोड़ा विक्रय होना था।
C. न्यायालय उपधारित करेगा कि केवल घोड़ा विक्रय होना था।
D. न्यायालय चाहे तो उपधारित कर सकता है कि सफेद घोड़ा विक्रय नहीं होना था।

LEGAL BUZZ QUIZ 4▶️ 📋 EVIDENCE ACT 1872
रेफरी का नियम वर्णित है-
A. धारा 18 में
B. धारा 20 में ☑️
C. धारा 19 में
D. कहीं नहीं
👉 धारा 20 वाद के पक्षकार द्वारा अभिव्यक्त रूप से निर्दिष्ट व्यक्तियों द्वारा स्वीकृतियाँ -वे कथन , जो उन व्यक्तियो द्वारा कियें गए हैं जिनको वाद के किसी पक्षकार ने किसी विवादग्रस्त विषय के बारे में जानकारी के लिए अभिव्यक्त रूप से निर्दिष्ट किया है , स्वीकृतियाँ हैं ।

LEGAL BUZZ QUIZ 5▶️
📋 EVIDENCE ACT 1872
निम्नलिखित में से कौनसा कथन सही नहीं है?
A. जिस तथ्य की न्यायालय न्यायिक अवेक्षा करेगा,उसे साबित करना आवश्यक नहीं है।
B. स्वीकृत तथ्यों को साबित करना आवश्यक नहीं है। ☑️
C. सभी तथ्य एवं दस्तावेजों की अन्तर्वस्तु मौखिक साक्ष्य द्वारा साबित किए जा सकेंगी।
D. मौखिक साक्ष्य प्रत्यक्ष होना चाहिए ।
👉 धारा 59-मौखिक साक्ष्य द्वारा तथ्यों का साबित किया जाना – –
दस्तावेजों या इलेक्ट्रानिक अभिलेखो की अन्तर्वस्तु के सिवाय सभी तथ्य मौखिक साक्ष्य द्वारा साबित किए जा सकेंगे ।

LEGAL BUZZ QUIZ 6▶️
📋 EVIDENCE ACT 1872 द्वितीयक साक्ष्य किसी दस्तावेज के अस्तित्व दशा या विषयवस्तु के सम्बन्ध में नहीं दिया जा सकता है
A. जबकि वह लोक दस्तावेज है ।
B. जबकि मूल इस प्रकृति का है कि उसे स्थानांतरित करना पड़े यद्यपि ऐसा सरलता से नहीं किया जा सकता है ।
C. जबकि वह उस पक्ष के कब्जे में है जिसके विरुद्ध सिद्ध किया जाना है कि वह साक्ष्य अधिनियम की धारा 66 के नोटिस के उपरांत पेश नहीं करता
D. जबकि मूल न नष्ट हुआ है न खो गया है ।☑️
👉 धारा 65 अवस्थाएं जिनमें दस्तावेजों के संबंध में द्वितीयक साक्ष्य दिया जा सकेगा
किसी दस्तावेज के अस्तित्व , दशा या अन्तर्वस्तु का द्वितीयक साक्ष्य निम्नलिखित अवस्थाओं में दिया जा सकेगा :
( a ) जबकि यह दर्शित कर दिया जाए या प्रतीत होता हो कि मूल ऐसे व्यक्ति के कब्जे में या ‘ शक्त्यधीन है – – जिसके विरुद्ध उस दस्तावेज को साबित किया जाना ईप्सित है , अथवा जो न्यायालय की ‘ आदेशिका की पहुंच के बाहर है , या ऐसी आदेशिका के अध्यधीन नहीं है , अथवा जो उसे पेश करने के लिए वैध रूप से आबद्ध है , और जबकि ऐसा व्यक्ति धारा 66 में वर्णित सूचना के पश्चात् उसे पेश नहीं करता है ,
( b ) जबकि मूल के अस्तित्व , दशा या अंतर्वस्तु को उस व्यक्ति द्वारा , जिसके विरुद्ध उसे साबित किया जाना है या उसके हित प्रतिनिधि द्वारा लिखित रूप में स्वीकृत किया जाना साबित कर दिया गया है ,
( c ) जबकि मूल नष्ट हो गया है , या खो गया है , अथवा जबकि उसकी अंतर्वस्तु का साक्ष्य देने की प्रस्थापना करने वाला पक्षकार अपने स्वयं के व्यतिक्रम या उपेक्षा से अनुभूत अन्य किसी कारण से उसे युक्तियुक्त समय में पेश नहीं कर सकता , ( d ) जबकि मूल इस प्रकृति का है कि उसे आसानी से स्थानांतरित नहीं किया जा सकता ,
( e ) जबकि मूल धारा 74 के अर्थ के अंतर्गत एक लोक – दस्तावेज है ,
( f ) जबकि मूल ऐसी दस्तावेज है जिसकी प्रमाणित प्रति का साक्ष्य में दिया जाना इस अधिनियम द्वारा या भारत में प्रवृत्त किसी अन्य विधि द्वारा अनुज्ञात है ,
( g ) जबकि मूल ऐसे अनेक लेखाओं या अन्य दस्तावेजों से गठित है , जिनकी न्यायालय में सुविधापूर्वक परीक्षा नहीं की जा सकती और वह तथ्य जिसे साबित किया जाना है , संपूर्ण संग्रह का साधारण परिणाम है ।
अवस्थाओं ( अ) , ( c ) और ( d ) में दस्तावेजों की अंतर्वस्तु का कोई भी द्वितीयक साक्ष्य ग्राह्य है । अवस्था ( b ) में वह लिखित स्वीकृति ग्राह्य है । अवस्था (e ) या ( f ) में दस्तावेज की प्रमाणित प्रति ग्राह्य है , किन्तु अन्य किसी भी प्रकार का द्वितीयक साक्ष्य ग्राह्य नहीं है ।
अवस्था ( g ) में दस्तावेजों के साधारण परिणाम का साक्ष्य ऐसे किसी व्यक्ति द्वारा दिया जा सकेगा , जिसने उनकी परीक्षा की है और जो ऐसी दस्तावेजों की परीक्षा करने में कुशल है ।

LEGAL BUZZ QUIZ 7▶️
📋 EVIDENCE ACT 1872
विबंध,भारतीय साक्ष्य अधिनियम के किस अध्याय में है –
A. अध्याय 6
B. अध्याय 7
C. अध्याय 8 ☑️
D. अध्याय 11

LEGAL BUZZ QUIZ 8▶️
📋 EVIDENCE ACT 1872
भारतीय दण्ड संहिता की धारा 376 के अधीन बलात्संग के लिए किसी अभियोजन में जहाँ अभियुक्त द्वारा 16 वर्ष से अधिक आयु की महिला के साथ मैथुन करना प्रमाणित हो जाता है और प्रश्न यह है कि क्या ऐसा उस महिला की सम्मति के बिना किया गया है, जिससे बलात्संग किया जाना अभिकथित है और वह स्त्री न्यायालय के समक्ष अपने साक्ष्य में कथन करती है। कि उसने सम्मति नहीं दी थी, तब क्या यह कहना सही है –
A. न्यायालय यह उपधारित करेगा कि उसने सम्मति नहीं दी थी। ☑️
B. न्यायालय यह उपधारित कर सकेगा कि उसने सम्मति नहीं दी थी।
C. न्यायालय कोई भी उपधारणा नहीं करेगा।
D. न्यायालय उक्त स्थिति में भी यही उपधारणा करके चलेगा कि अभियुक्त निर्दोष है, जबकि अन्यथा प्रमाणित न हो जाए।

LEGAL BUZZ QUIZ 9▶️
📋 EVIDENCE ACT 1872 स्वीकृति का साक्ष्य है-
A. मौखिक कथन
B. दस्तावेजी कथन
C. मौखिक एवं दस्तावेजी कथन दोनों ही☑️
D. उपर्युक्त में से कोई नहीं
👉 धारा 17 स्वीकृति की परिभाषा – –
स्वीकृति वह [ मौखिक या दस्तावेजी अथवा इलेक्ट्रानिक रूप में अन्तर्विस्ट ] कथन है , जो किसी विवाधक तथ्य या सुसंगत तथ्य के बारे में कोई अनुमान इंगित करता है और जो ऐसे व्यक्तियों में से किसी के द्वारा ऐसी परिस्थितियों में किया गया है जो एतस्मिन् पश्चात् वर्णित हैं ।

LEGAL BUZZ QUIZ 10▶️
📋 EVIDENCE ACT 1872
धारा 111-A में वर्णित अपराध है-
A. धारा 121 भारतीय दण्ड संहिता के तहत् ।
B. धारा 121क भारतीय दण्ड संहिता के तहत्
C. धारा 123 भारतीय दण्ड संहिता के तहत् ।
D. उपर्युक्त सभी☑️
👉 धारा 111 A ( 1 ) जहां कोई व्यक्ति उपधारा ( 2 ) में विनिर्दिष्ट किसी अपराध के – –
( a ) ऐसे किसी क्षेत्र में , जिसे ‘ उपद्रव को दबाने के लिए और लोक व्यवस्था की बहाली और उसे बनाए रखने के लिए उपबंध करने वाली तत्समय प्रवृत्त किसी अधिनियमिति के अधीन °विक्षुब्ध क्षेत्र घोषित किया गया है ; या
( b ) ऐसे किसी क्षेत्र में , जिसमे एक मास से अधिक की अवधि के लिए लोक शांति में व्यापक विघ्न रहा है , किए जाने का अभियुक्त है ।
और यह दर्शित किया जाता है कि ऐसा व्यक्ति ऐसे क्षेत्र में किसी स्थान पर ऐसे समय पर था जब ऐसे किसी सशस्त्र बल या बलो के , जिन्हें लोक व्यवस्था बनाए रखने का भार सौंपा गया है , ऐसे सदस्यों पर , जो अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर , आक्रमण करने के लिए या उनका प्रतिरोध करने के लिए उस स्थान पर या उस स्थान से अग्न्यायुधों या विस्फोटकों का प्रयोग किया गया था वहां जब तक कि ‘ तप्रतिकूल दर्शित नहीं किया जाता यह उपधारणा की जाएगी कि ऐसे व्यक्ति ने ऐसा अपराध किया है ।
( 2) उपधारा ( 1 ) में निर्दिष्ट अपराध निम्नलिखित हैं , अर्थात् – – )
(a) भारतीय दण्ड संहिता ( 1860 का 45 ) की धारा 121 , धारा 121 – क , धारा 122 या धारा 123 के अधीन कोई अपराध ;
( b ) आपराधिक षड़यंत्र या भारतीय दण्ड संहिता ( 1860 का 45 ) की धारा 122 या धारा 123 के अधीन / कोई अपराध करने का प्रयत्न या उसका दुष्प्रेरण ।

यदि आपके पास कोई प्रश्न या सुझाव है, तो कृपया हमें -piyushv05@gmail.com पर मेल करके बताएं !

LEGALBUZZNOW के Hindi Online Law Questions Mock Test Platform पर आपका स्वागत हैं. All India Judiciary Exam Preparation & Law Job Alerts को समर्पित वेबसाइट है | यह वेबसाइट प्रतियोगिता परीक्षाओं जैसे RJS,MPCJ, UPPCSJ,Uttarakhand,Jharkhand, Chatisgarh Judicial Service Civil Judge & Higher Judiciary Exam इत्यादि प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण है |

⏳ पिछले लीगल बज्ज ऑनलाइन मॉक टेस्ट

🌐 मॉक टेस्ट पासवर्ड प्राप्त करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

🆕 CRPC 1973 तलाशी वारण्ट SEARCH WARRANT जानिए महत्वपूर्ण पहलू

🍿POPCORNS

🔮 Fresh Buzz

TAGS

#IPC1860 #CRPC1973 #CPC1908 #EVIDENCEACT1872 #CONSTITUTION #TRANSFEROFPROPERTYACT1882 #CONTRACTACT1872 #LIMITATIONACT1963 #SPECIFICRELIFACT #JUDICIARY #LAWEXAM #ONLINEMOCKTEST #JUDGE #LEGALBUZZNOW #ADVOCATELAW #JUSTICE #LEGALPROFESSION #COURTS #JUDICIAL #LAWYERS #LEGAL #LAWYER #LAWFIRM #SUPREMECOURT #COURT #LAWSTUDENTS #INDIANLAW #SUPREMECOURTOFINDIA #UGCNET #GK #ONLINELAWCOUCHING #LAWSTUDENTS #SPECIALOFFER #CRIMINALLAW #HUMANRIGHTS #CRPC #INTELLECTUALPROPERTY #CONSTITUTIONOFLNDIA #FAMILYLAW #LAWOFCONTRACT #PUBLICINTERESTLAWYERING #TRANSFEROFPROPERTY #LAWOFTORTS #LAWOFCRIME #COMPANYLAW #LEGALSCHOOL #ELEARNING #LAW #ONLINEEDUCATION #DIGITALLAWSCHOOL #LAWSCHOOL #LEGAL #ONLINELEGALPLATFORM #INDIALAW #DIGITALLNDIA FOR RJS MPCJ UPPCSJ CHATTISGARAH UTRAKHAND JHARKHAND BIHAR JUDICIARY EXAMS RJS MPCJ UPCJ LAW COACHING JAIPUR JUDICIARY EXAM LAW QUIZ free online mock test for civil judge pcs j online test in hindi delhi judicial services mock test up pcs j online test

  • 781,332 Total Views
📢 EXAM ALERT