22 Mar
2019

माइनर एक्ट मॉक राजस्थान न्यायिक सेवा परीक्षा 2019 स्पेशल 16

LEGAL BUZZ QUIZ 1 ▶️
📋 DOMESTIC VIOLENCE ACT 2005
घरेलु हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम,2005 लोकसभा में पारित किया गया—
A.24 अगस्त,2005 ✅
B.29 अगस्त,2005
C.13 दिसम्बर,2005
D.26 अक्टुबर,2006

LEGAL BUZZ QUIZ 2 ▶️
📋 DOMESTIC VIOLENCE ACT 2005
संरक्षण अधिकारियों की नियुक्ति इस अधिनियम की कौनसी धारा के अंंर्तगत की जाती हैं ?
A.धारा 8 ✅
B.धारा 9
C.धारा 10
D.धारा 11

👉 धारा 8 राज्य सरकार अधिसुचना द्वारा प्रत्येक जिले में संरक्षण अधिकारी (यथासम्भव स्त्री संरक्षण अधिकारी) की नियुक्ति करेगी ।

LEGAL BUZZ QUIZ 3 ▶️
📋 DOMESTIC VIOLENCE ACT 2005
घरेलु हिंसा से महिलाओं का संरक्षण,2005 में घरेलू हिंसा में शामिल हैं—
A.शारीरिक दुरुपयोग
B.लैंगिक दुरुपयोग
C.मौखिक और भावनात्मक दुरुपयोग
D.उपरोक्त सभी ✅

👉 धारा 3 का स्पष्टीकरण 1—
(i) शारीरिक दुरुपयोग— से कोई भी कृत्य या आचरण अभिप्रेत हैं जो ऐसी प्रकृति का हो कि व्यथित व्यक्ति के जीवन,अंग, या स्वास्थय को शारीरिक दर्द कारित करता हैं,नुकसान पहुचाता हैं या क्षतरा कारित करता हैं या उसके स्वास्थय या विकास को हास कारित करता है।
(ii) यौन दुरुपयोग— यौन प्रकृति का कोई भी आचरण जो महिला की गरिमा का दुरुपयोग करता हैं,अपमानित,तिरस्कृत करता हैं।
(iii) मौखिक और भावनात्मक दुरुपयोग—(a) अपमान,हंसी उडाना,तिरस्कार,गाली देना और कोई संतान या लडका नही होन के बारे में विशेषकर अपमानित करना ।
(iv) आर्थिक दुरुपयोग मे —(a) कोई भी या सभी आर्थिक या वितीय स्त्रोत जिसका व्यथित व्यक्ति विधि या प्रथा के अधिन हकदार है चाहे न्यायालय के आदेश के अधीन संदेय हो या अन्यथा या व्य​थित आवश्यकता होने के कारण अपेक्षित करता हैं से वंचित करना इसमें शामिल हैं ।
(b) कौटुम्बिक गृह के सामानों का व्ययन आस्तियॉं चाहे जगम या स्थावर,बहुमुल्य वस्तुए,शेयर,प्रतिभुति,बॉड इत्यादि
(c) स्त्रोतो या सुविधाओं जिसका व्यथित व्यक्ति घरेलु नातेदारी के कारण उपयोग करने का हकदार हैं

LEGAL BUZZ QUIZ 4 ▶️
📋 JUVENILE JUSTICE ACT,2015
भीख मागने से अभिप्रेत हैं ?
A.किसी लोक स्थान पर भिक्षा की याचना करना
B.किसी प्राइवेट परिसर में भिक्षा की याचना करने या उसे प्राप्त करने के प्रयोजन के लिए प्रवेश करना
C.भिक्षा अभिप्राप्त करने या उद्दापित करने के उद्देश्य से अपना या किसी अन्य व्यक्ति का अंगविकार या रोग को अभिदर्शित करना
D.उपरोक्त सभी ✅

👉 धारा 2 (8)— (i) किसी लोक स्थान पर भिक्षा की याचना करना या उसे प्राप्त करना अथवा किसी प्राईवेट परिसर में भिक्षा की याचना करने या उसे प्राप्त करने के प्रयोजन के लिए प्रवेश करना,चाहे वह किसी भी बहाने से हो ।
(ii) भिक्षा प्राप्त करने के या उददापित करने के उ​ददेश्य से अपना या किसी अन्य व्यक्ति या किसी अन्य व्यक्ति या किसी जीवजन्तु का कोई वर्ण,घाव,क्षति,अंग विकार या रोग को अभिर्शित या प्रदर्शित करना

LEGAL BUZZ QUIZ 5 ▶️
📋 JUVENILE JUSTICE ACT,2015
किशोर न्याय (बालकों की देखरेख और संरक्षण) अधिनियम, 2015 कि किस धारा में किशोर न्याय बोर्ड के गठन के संबध में उपबंध किया गया गया हैं ?
A.धारा 3 के तहत
B.धारा 4 के तहत ✅
C.धारा 5 के तहत
D.धारा 6 के तहत

👉 धारा 4 दण्ड प्रकिया संहिता,1973 में अंतर्विष्ठ किसी बात के होते हुए भी राज्य सरकार प्रत्येक जिले में ए​क या अधिक किशोर न्याय बोर्डो को,इस अधिनियम के अधीन विधि का उल्लघन करने वाले बालको के संबध में शक्तियो का प्रयोग करने और अपने कृत्यो का निर्वहन करने के लिए राज्य सरकार स्थापित करेगी ।

LEGAL BUZZ QUIZ 6 ▶️
📋 JUVENILE JUSTICE ACT,2015
बालक की पहचान प्रकटन का प्रतिषेध किया गया हैं ?
A.धारा 73 के तहत
B.धारा 74 के तहत ✅
C.धारा 75 के तहत
D.धारा 76 के तहत

👉 धारा 74 बालक की पहचान का प्रकटन का प्रतिषेध—किसी जांच या अन्वेषण या न्यायिक प्रक्रिया के बारे में किसी समाचार पत्र,पत्रिका या समाचार पृष्ठ या दृश्य श्रव्य माध्यम या संचार के किसी अन्य रुप में की किसी रिर्पोट में ऐसे नाम पते या विधालय या किसी अन्य विशिष्ठ को प्रकट नही किया जाएगा,जिससे विधि का उल्लघन करने वाले बालक या देखरेख और संरक्षण के जरुरत मंद बालक या किसी बाल पीडित या किसी अपराध के साक्षी की,जो तत्समय प्रवृत किसी विधि के अधीन ऐसे मामलें में अंतवर्लित है,पहचान हो सकती हैं और न ही ऐसे बालक का चित्र प्रकाशित किया जाएगा ।

LEGAL BUZZ QUIZ 7 ▶️
📋 PROBATION OF OFENDER ACT 1958
अपराधी परिवीक्षा अधिनियम की धारा 5 के प्रावधान समरुप हैं दण्ड प्रक्रिया संहिता की—
A.धारा 360 के ✅
B.धारा 357 के
C.धारा 355 के
D.धारा 361 के

👉 धारा 360 जब कोई व्यक्ति जो इक्कीस वर्ष से कम आयु का नही हैं केवल जुर्माने से या सात वर्ष या उससे कम अवधि के कारावास से दण्डनीय अपराध के लिए दोषसिद्ध किया जाता हैं अथवा जब कोई व्यक्ति जो इक्कीस वर्ष से कम आयु का है या कोई स्त्री ऐसे अपराध के लिए जो मृत्यु या आजीवन कारावास से दण्डनीय नही हैं दोषसिद्ध की जाती हैं और अपराधी के विरुध कोई पुर्व दोषसिद्धि साबित नही कह गई हैं तब यदि उस न्यायालय को जिसके समक्ष उसे दोषसिद्ध किया गया है। अपराधी की आयु शील या पुर्ववृत को और उन परिस्थितियो को जिनमे अपराध किया गया हैं । ध्यान में रखते हुए प्रतीत होता हैं कि अपराधी को सदाचारण की परिवीक्षा पर छोड देना
समीचीन हैं तो न्यायालय उसे तुरन्त कोई दण्डादेश देने के बजाय कोई निदेश दे सकता हैं कि उसे प्रतिभुओ सहित या रहित उसके द्वारा यह बंधपत्र लिख दिया पर छोड दिया जाए कि वह इतनी अवधि के दौरान जितनी न्यायालय निर्दिष्ट करे बुलाए जाने पर हाजिर होगा और दण्डादेश पाएगा और इस बीच परिशांति कायम रखेगा और सदाचारी बना रहेगा ।

LEGAL BUZZ QUIZ 8 ▶️
📋 PROBATION OF OFENDER ACT 1958
निम्नलिखिम मे से कौनसा कथन असत्य है धारा 6 के अधीन अपराधी को परिवीक्षा पर छोडे जाने हेतु निम्नकिंत बातों को पुरा होना आवश्यक हैं —
A.अपराधी कि आयु 18 वर्ष के कम हो ✅
B.अपराधी कि आयु 21 वर्ष से कम हो
C.अपराधि द्वारा कारित अपराध आजीवन कारावास के दण्ड से दण्डनीय न हो
D.अपराधि द्वारा कारित अपराध मृत्युदण्ड से दण्डनीय न हो

👉 धारा 6 इक्कीस वर्ष से कम आयु वाले अपराधियों के कारावास पर निर्बधन—जब इक्कीस वर्ष से कम आयु वाला कोई व्यक्ति कारावास(किेन्तु आजीवन कारावास से नहीं) दोषी पाया जाता हैं तब वह न्यायालय जिसने उस व्यक्ति को दोषी पाया है उसे कारावास से तब तक दण्डित नही करेगा जब तक उसका समाधान नही हो जाता हैं कि मामले की परिस्थितियो को जिनके अंर्तगत अपराध की प्रकृति और अपराध का चरित्र भी है ध्यान मे रखते हुए वाछनीय नही होगा कि उससे धारा 3 या धारा 4 के अधीन व्यवहार किया जाए और यदि न्यायालय अपराधी को कारावास क कोई दण्ड देता हैं तो वैषा करने के अपने कारणों को अभिलिखित करेगा ।

LEGAL BUZZ QUIZ 9 ▶️
📋 PROBATION OF OFENDER ACT 1958
निम्नाकिंत मे से किस धारा में परिवीक्षा अधिकारी के संबध में प्रावधान किया गया हैं ?
A.धारा 12 में
B.धारा 13 में ✅
C.धारा 14 में
D.धारा 15 में

👉 धारा 13—(1) इस अधिनियम के अधीन परिवीक्षा अधिकारी—
(क) वह व्यक्ति होगा जो राज्य सरकार द्वारा परिवीक्षा अधिकारी नियुक्त किया गया हैं या राज्य सरकार द्वारा उस रुप में मान्यता प्राप्त हैं ।

LEGAL BUZZ QUIZ 10 ▶️
📋 RAJASTHAN RENT CONTROL ACT 2001
राजस्थान किराया नियंत्रण (संसोधन) अधिनियम,2017 द्वारा किये गये संसोधन किस तारीख से लागु किये गये ?
A.1 अप्रेल 2017 से
B.10 सितम्बर 2017 से
C.18 अक्टुबर 2017 से ✅
D.15 नवम्बर 2017 से

LEGAL BUZZ QUIZ 11 ▶️
📋 RAJASTHAN RENT CONTROL ACT 2001
राजस्थान किराया नियंत्रण अधिनियम,2001 के अधीन निम्नलिखित में से क्या ‘परिसर’ में सम्मिलित नही हैं ?
A.किराये पर दिये गये भवन से अनुलगन उद्यान
B.किसी होटल,धर्मशाला या सराय का कोई कमरा ✅
C.भवन में उपयोग के लिए भू स्वामी द्वारा दिया गया कोई फर्निचर
D.उपरोक्त सभी

👉 धारा 2(च) परिसर से निम्नलिखित अभिप्रेत हैं —
(क) ऐसी कोई भुमि जो कृषि—प्रयोजनों के लिए उपयोग मे नही ली जाती हैं ।
(ख) (फार्म भवन से भिन्न) ऐसा कोई भवन या भवन का भाग जो निवास के रुप में उपयोग के लिए या वाणिज्यक उपयोग या किसी अन्य प्रयोजन के लिए किराए पर दिया गया हो या किराए पर दिए जाने के लिए आशायित हो और उसमें निम्नलिखित भी सम्मलित हैं —
(i) ऐसे भवन या भाग से अनुलग्न उद्यान,भुमि,गोदाम,गैराज और उपग्रह यदि कोई हों
(ii) ऐसे भवन या भाग में उपयोग के लिए भू—स्वामी द्वारा दिया गया कोई फर्नीचर,
(iii) ऐसे भवन या भाग में उसके अधिक फायदाप्रद उपभोग के लिए उससे लगी हुई कोई फिटिंग
(iv) ऐसे किसी भवन या भाग से अनुलग्न तथा उसके साथ किराए पर दि गई भूमि,उसमें किसी धर्मशाला,पथिकाश्रम,सराय,बासा,बोडिग हाउस या छात्रावास में कोई कमरा अथवा अन्य वास सुविधाए सम्मिलित नहीं हैं ।
स्पष्टीकरण—किसी प्रतिकुल संविदा के अभाव में छत का उपरी भाग किसी किरायेदार को किराए पर दिये गये परिसर का भाग नही होगा ।

LEGAL BUZZ QUIZ 12 ▶️
📋 RAJASTHAN RENT CONTROL ACT 2001
राजस्थान किराया अधिकरण प्रत्यर्थी पर अपील की नोटिस की तामील की तारीख से कितने दिनों के भीतर अपील का निपटारा करेगा ?
A.90 दिन
B.120 दिन
C.150 दिन
D.180 दिन ✅

👉 धारा 19(8)अपील किराया अधिकरण सुनवाई की तारीख नियम करेगा जो प्रत्यर्थी पर अपील के नोटिस की तामील से पैंतालिस दिन के पश्चात की नही होगी और अपील का निपटारा प्रत्यर्थी पर अपील के नोटिस की तामील की तारीख से एक सौ अस्सी दिन की कालावधि के भीतर—भीतर किया जाएगा ।

LEGAL BUZZ QUIZ 13 ▶️
📋 INTERPRETATION OF STATUTES
यह किसने कहा कि —
”निर्वचन या अर्थान्वयन वह प्रक्रिया हैं जिसके द्वारा न्यायालय प्राधिकृत रीतियों के माध्यम से विधायन का अर्थ सुनिश्चित करते हैं जिनमें वह अभिव्यक्त किया गया हैं ।”
A.सामण्ड ✅
B.आस्टिन
C.मैक्सवेल
D.बैथम

LEGAL BUZZ QUIZ 14 ▶️
📋 INTERPRETATION OF STATUTES
संविधि की व्याख्या का आंतरिक उपकरण किसे कहा जाता हैं —
A.प्रस्तावना को
B.परतुंक को
C.स्पष्टीकरण को
D.उपरोक्त सभी को ✅

LEGAL BUZZ QUIZ 15 ▶️
📋 INTERPRETATION OF STATUTES
करारोपण सम्बन्धी विधियों का अर्थान्वयन —
A.उदारतापुर्वक किया जाना चाहिए
B.कठोरतापुर्वक किया जाना चाहिए ✅
C.नहीं किया जाना चाहिए
D.उपरोक्त में से कोई नहीं

LEGAL BUZZ QUIZ 16 ▶️
📋 SPECIFIC RELIEF ACT 1963
विनिर्दिष्ट अनुतोष अधिनियम,1963 की धारा 10 के अनुसार न्यायालय द्वारा किसी संविदा का विनिर्दिष्ट पालन निम्नलिखित किस धारा में अंतर्विष्ट उपबंधों के अधीन रहते हुए कराया जाएगा —
A.धारा 11(2)
B.धारा 14
C.धारा 16
D.उपरोक्त सभी ✅

👉 धारा 10 संविदाओं की बाबत विनिर्दिष्ठ पालन—न्यायालय द्वारा किसी संविदा का विनिर्दिष्ट पालन धारा 11 की उपधारा (2), धारा 14 और धारा 16 में अंतर्विष्ट उपबंधो के अधीन रहते हुए कराया जाएगा।

LEGAL BUZZ QUIZ 17 ▶️
📋 SPECIFIC RELIEF ACT 1963
यदि कोई व्यक्ति अपनी सहमति बिना स्थावर सम्पति के विधि के सामान्य अनुक्रम में अन्यथा बेकब्जा कर दिया जाए तो वह कब्जा प्रत्यद्धरण हेतु विनिर्दिष्ट अनुतोष की धारा 6 के अन्तर्गत वाद प्रस्तुत कर सकता हैं —
A.बेकब्जा किए जाने की तारीख से तीन मास के भीतर
B.बेकब्जा किए जाने की तारीख से छह मास के भीतर ✅
C.बेकब्जा किए जाने की तारीख से बारह मास के भीतर
D.बेकब्जा किए जाने की तारीख से तीन वर्ष के भीतर

👉 धारा 6(2) इस धारा के अधीन कोई वाद—
(क) बेकब्जा किए जाने की दिनांक से छ: माह के अवसान के पश्चात या
(ख) शासन के विरुध नहीं लाया जाएगा ।

LEGAL BUZZ QUIZ 18 ▶️
📋 SPECIFIC RELIEF ACT 1963
संविदा के विनिर्दिष्ट पालन का आदेश दिया जा सकता हैं,जहॉं—
A.किए जाने वाले कार्य के अपालन द्वारा कारित वास्तविक नुकसान का अभिनिषश्चिय करने के लिए कोई मानक विधमान न हो ✅
B.धन के रुप में प्रतिकर यथायोग्य अनुतोष हो
C.संविदा जिसके पालन में ऐसा सतत कर्तव्य का पालन अन्तर्वलित हो,जिसका न्यायालय पर्यवेक्षण न कर सके
D.संविदा अपनी प्रकृति से ही पर्यवसेय हो
👉 धारा 10

LEGAL BUZZ QUIZ 19 ▶️
📋 LIMITATION ACT 1963
परिसीमा अधिनियम की धारा 5 लागू होती हैं —
A.वाद
B.अपील और आवेदन ✅
C.निष्पादन
D.सभी में

👉 धारा 5 विहित काल का कतिपय दशाओं मे विस्तारण —
कोई भी अपील या आवेदन जो सिविल प्रक्रिया संहिता 1908 के आदेश 21 के उपबंधो में से किसी के अधीन के आवेदन से भिन्न हो विहित कान के पश्चात ग्रहण किया जा सकेगा यदि अपीलार्थी या आवेदक न्यायालय का समाधान कर दे कि उसके पास ऐसे काल के भीतर अपील या आवेदन करने के लिए पर्याप्त हेतुक था ।

LEGAL BUZZ QUIZ 20 ▶️
📋 LIMITATION ACT 1963
अधिनियम की धारा 12 के अंतर्गत किसी वाद,अपील या आवेदन के परिसीमा काल की संगणना करने में निम्नलिखित को अपवर्जित नहीं किया जाएगा —
A.वह दिन जिस पर परिवादित निर्णय सुनाया गया था
B.डिक्री या आदेश जिसके विरुद्ध अपील की जाती हैं,की प्रतिलिपि अभिप्राप्त करने के लिए अपेक्षित समय
C.वह दिन जिससे ऐसे परिसीमा काल की गणना की जानी हैं
D.वह दिन जिस पर वाद,अपील या आवेदन प्रस्तुत किया जाना हैं ✅

👉 धारा 12 विधिक कार्यवाहियों में समय का अपवर्जन—
(1) किसी वाद,अपील या आवेदन के परिसीमा काल की सगणना करने मे वह दिन अपवर्जित कर दिया जाएगा जिससे ऐसे परिसीमा काल की गणना की जानी हैं ।
(2) किसी अपील के लिए अथवा ऐसे आवेदन के लिए जो अपील की इजाजत या पुनरीक्षण के या किसी निर्णय के पुनर्विलोकन के लिए हो,परिसीमा काल की संगणना करने मे वह दिन,जिस दिन परिवादित निर्णय सुनाया गया था तथा उस डिक्रि,दण्डादेश या आदेश की जिसकी अपील की गई हैं या जिसका पुनरीक्षण या पुनर्विलोकन ईप्सित हैं प्रतिलि​पि अभिप्राप्त करने के लिए अपेक्षित समय अपचर्जित कर दिया जाएगा ।
(3) जहां किसी डिक्री या ओदश की अपील की जाती ​हैं या पुनरीक्षण या पुनर्विलोकन ईप्सित हैं या जहां कि किसी डिक्री या ओदश की अपील की इजाजत के लिए आवेदन किया जाता हैं वहां उस निर्णय की प्रतिलि​पि अभिप्राप्त करने के लिए अपेक्षित समय भी उपवर्जित कर दिया जाएगा ।
(4) किसी पंचाट के अपास्त किए जाने के लिए आवेदन के परिसीमा काल की संगणना करने में पंचाट कर प्रतिलिपि अभिप्राप्त करने के लिए अपेक्षित समय अपवर्जित कर दिया जाएगा ।

LEGAL BUZZ QUIZ 21 ▶️
📋 LIMITATION ACT 1963
हानि को नियंत्रित करने की समय सीमा कब शुरु होती हैं ?
A.जब हानि शुरु होती है। ✅
B.जब हानि पहुॅंचाने का ज्ञान याचिकाकर्ता के संज्ञान में आता हैं
C.अधिनियम में किसी परिसीमा का उल्लेख नहीं किया गया हैं
D.कैलेंडर वर्ष की शुरुवात से

👉 धारा 23 उस कार्य के लिए जिसमें कोई वाद हेतु तब तक उदभुत नही होता जब तक उससे कोई विर्निदिष्ट क्षति वस्तुत नही होती हैं प्रतिकर के वाद की दशा में परिसीमा काल उस समय से संगणित किया जाएगा जब वह क्षति हो जाए ।

LEGAL BUZZ QUIZ 22 ▶️
📋 NEGOTIBLE INSTRUMENT ACT 1881
विनिमय पत्र या चैक का रचियता कहलाता हैं ?
A.लेखीवाल ✅
B.ऊपरवाल
C.जिकरीवाल
D.बैंकर

👉 धारा 7 ‘लेखीवाल’ ‘उपरवाल’ विनिमय पत्र या चैक का रचियता उसका लेखीवाल कहलाता हैं,संदाय करने के लिए तदद्वारा निर्दिष्ट व्यक्ति ‘उपरवाल कहलाता हैं ।

LEGAL BUZZ QUIZ 23 ▶️
📋 NEGOTIBLE INSTRUMENT ACT 1881
ऐसी लिखत,जिसको देखने में यह पता ही नहीं चले कि वचन पत्र हैं या विनिमय पत्र ऐसी लिखत होगी —
A.माँग पर देय लिखत
B.स्टाम्पित अधूरी लिखत
C.संदिग्धार्थी लिखत ✅
D.उपरोक्त सभी

👉 धारा 17 संदिग्धार्थी लिखत— जहॉं कि लिखत का अर्थ वचनपत्र या विनिमय पत्र दोनों लगाया जा सकता हैं वहां धारक अपने निर्वाचन द्वारा उसे दोनों में से किसी भी रुप में बरत सकेगा और तत्पश्चात वह लिखत तदनुसार बरती जाएगी ।

LEGAL BUZZ QUIZ 24 ▶️
📋 NEGOTIBLE INSTRUMENT ACT 1881
यदि धारक द्वारा ऊपरवाल को लिखत को प्रतिगृहित करने या करने में 48 घण्टे से अधिक का समय दिया जाता हैं,तब ऐसी अनुज्ञा से सम्मत न होने वाले सभी पूर्विक पक्षकार —
A.ऐसे धारक के प्रति दायित्व से उन्मोचित हो जाते हैं ✅
B.ऐसे धारक के प्रति दायित्व से उन्मोचित नहीं हो जाते हैं
C.ऐसे धारक के प्रति दायित्व से अशत: उन्माचित हो जाते हैं
D.उपरोक्त में से कोई नहीं

👉 धारा 83 उपरवाल को प्रतिग्रहण के लिए (अडतालीस) घण्टे से अधिक समय अनुज्ञात करने से उन्मोचन—यदि विनिमय पत्र का धारक उपरवाल को यह विचार करने के लिए कि वह उसे प्रतिग्रहित
करेगा या नही लोक अवकाश के दिनो को छोडकर (48 घण्टे) से अधिक अनुज्ञात कर देता हैं तो ऐसी अनुज्ञा से सम्मत न होने वाले सब पुर्विक पक्षकार ऐसे धारक के प्रति दायित्व से तदद्वारा उन्माचित हो जाते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मॉक टेस्ट पासवर्ड प्राप्त करने के लिए नीचे दी गयी इमेज पर क्लिक करें

DEMO

हमारे पिछले लीगल बज्ज ऑनलाइन मॉक टेस्ट

SUBSCRIBE LEGAL BUZZ UPDATES VIE EMAIL

Enter your email address to subscribe to this website update and receive notifications of new posts by email.

Join 1,587 other subscribers

लीगल बज़्ज़ पाठशाला 🈴

LAW 📺

 

GK 📺

  • 63,720 hits